Chandrakant Patil

I am Chandrakant N.Patil, retired Engineering. I'm residing with my family at Jalgaon, in India. I like to be in positive attitude and creative works. I believe that there are easiest ways to live happy life

यूँ तो हम ने लाख हसीं देखे हैं,

यूँ तो हम ने लाख हसीं देखे हैं, यूँ तो हम ने लाख हसीं देखे हैं, तुमसा नहीं देखा ,हो तुमसा नहीं देखा यूँ तो हम ने लाख हसीं देखे हैं, तुमसा नहीं देखा, हो तुमसा नहीं देखा उफ़ ये नज़र, उफ़ ये अदा, उफ़ ये नज़र, उफ़ ये अदा…

Continue reading

सारंगा तेरी याद में नैन हुए बेचैन

सारंगा तेरी याद में नैन हुए बेचैन सारंगा तेरी याद में नैन हुए बेचैन मधुर तुम्हारे मिलन बिना दिन कटते नहीं रैन, हो सारंगा तेरी याद में… वो अम्बुवा का झूलना, वो पीपल की छाँव घूँघट में जब चाँद था, मेहंदी लगी थी पांव आज उजड़ के रह गया, वो…

Continue reading

Shavasan-1

Shavasan-1 In sleep you body and brain don’t get complete rest. Mind ever in habit of ordering brain for future arrangement for preserving ego hence our brain and heart and ever remain in tense state. Dreams and unidentified moves are the resultant of it. You can’t easily quite our system…

Continue reading